Sabha Ki Shayari

99.00

बेशक, यह एक नायाब शायरी की किताब है। जिसमें शायरा केनूप्रिया जी ने प्रेमी जोडों को ध्यान में रखते हुए अपने विचार प्रकट किए हैं। इस लेखन की यात्रा में एक खास शख्स का बहुत महत्तवपूर्ण सहयोग रहा है। जिनका शायरा केनू – प्रिया जी प्रति हृदय तल से आभार प्रकट करना चाहती हैं। उन्हें ये नाम शायरा भी उन्हीं का दिया हुआ है।

Category:

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Sabha Ki Shayari”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

× Live Chat!